Followers

Thursday, 14 July 2016




गले लगकर सूरज का
खूब रोई निशा रानी
बूँद बूँद पत्ते पर टपके
निशा के जो नयन बरसे......



                                                               Ranjana verma